Friend Shayri Love Shayri

गा सकूं नगमा,
वो साज कहां से लाऊं,
सुना सकूं कुछ आपको वो अंदाज़ कहां से लाऊं,
यूं तो चांद की तारीफ करना आसान है,
कर सकूं आपकी तारीफ वो अल्फाज कहां से लाऊं.

गुजरे हुए कल की याद आती है,
कुछ लम्हों से आंख भर आती है,
वो सुबह रंगीन और शाम निराली बन जाती है,
जब आप जैसे दोस्त की याद आती है.

जिंदगी इतनी मुश्किल ना थी,
अगर तुमसे मोहब्बत ना होती,
हम इस तरह से घायल ना होते, तेरी नजर कातिल ना होती.

एक सपना – किसी अपने से मिलना,
एक इत्तेफाक- आपका हमारी जिंदगी में आना,
एक हकीकत – आपसे दोस्ती करना और
एक तमन्ना – दोस्ती को जिंदगी भर निभाना.

जाम पर जाम पीने से क्या फायदा,
शाम को पी सुबह उतर जाएगी,
अरे दो बूंद दोस्ती के पी लो,
जिंदगी सारी नशे में गुजर जाएगी.

उठा लो चुनरी को जमीन से,
कहीं दाग न लग जाए,
छुपा लो हुस्न को,
कहीं दुनिया में आग ना लग जाए.

कुछ देर हमारे साथ चलो,
हम अपनी कहानी कह देंगे,
समझे ना जिसे तुम आंखों से,
वो बात जुबानी कह देंगे.

हुस्न परियों का और रूप चांद का किराया होगा,
खूबसूरत फूलों से होठों को सजाया होगा,
जुल्फ बिखेरे तो घटाओ को आए पसीना,
बड़ी फुर्सत से रब ने तुमको बनाया होगा.

मुझे इसका गम नहीं की बदल गया जमाना,
मेरी जिंदगी है तुम्हीं से,
कहीं तुम बदल ना जाना.

कितनी भोली हो कितनी प्यारी हो,
जो भी देखे निसार हो जाए,
आदमी क्या चीज है,
तुम से तो पत्थर को भी प्यार हो जाए.

मोहब्बत करने वालों की तकदीर बदलती रहती है,
शीशा तो वो ही रहता है, मगर तस्वीर बदलती रहती है.

हर रात दीये से सजा रखी है,
हर हवा से शर्त लगा रखी है,
जाने किस गली में गुजरे दोस्त मेरा,
हर गली फूलों से सजा रखी है.

चेहरा तो छुपा लेती हो,
आंखें भी छुपा लिया करो,
लोग आंखों के रास्ते दिल में उतर जाते हैं.

खुदा से कोई बात अंजान नहीं होती,
हर इंसान की बंदगी है बेईमान नहीं होती,
कभी मांगा होगा हमने एक प्यारा-सा दोस्त,
वरना हमारी आपसे मुलाकात नहीं होती.

दिल में उठा वो तूफान,
कश्ती किनारे पर आते-आते रह गए,
बात जो ना कह पाए तुम से दिल की,
तो जिंदगी में बाहर आते-आते रह गए.

तोबा तोबा यह जवानी का गरूर,
इसके आगे सर झुकाना ही पड़ा,
यूं तो कहते थे ना आएंगे कभी,
दिल ने इस कदर पुकारा की आना ही पड़ा.

अगर हम मर जाए तो सिर्फ आंसू बहाना,
हमारे पीछे मत चले आना,
दुनिया ने तो जीने नहीं दिया,
यार वहां तो मत सताना.

दिल की महफिल में उजाला कीजिए,
एक प्यार भरा गीत गाया कीजिए,
जिंदगी खूबसूरत बन जाएगी,
जरा अपनों के लिए वक्त निकाला कीजिए.

डरते है आग से कही जल ना जाएं,
डरते हैं ख्वाब से कहीं टूट ना जाए,
सबसे ज्यादा डरते हैं आपसे,
कहीं आप हमें भूल ना जाए,

जुदाई आपकी रुलाती रहेगी,
याद आपकी आती रहेगी,
पल-पल जान जाती रहेगी,
जब तक जिस्म में है जान,
हर सांस यह रिश्ता निभाती रहेगी.

क्या है यह वादे क्या है यह कसम,
हमको विश्वास नहीं है इनमें,
बस ये विश्वास हमको तुम पे,
क्योंकि हम प्यार करते हैं तुमसे.

दोस्ती तो सिर्फ एक इत्तफाक है,
यह तो दिलों की मुलाकात है,
दोस्ती नहीं देखती यह दिन है कि रात है,
इसमें तो सिर्फ वफादारी और जज्बात है!

तेरी मुस्कुराहट मेरी पहचान है,
तेरी खुशी मेरी जान है,
कुछ भी नहीं मेरी जिंदगी में,
बस इतना समझ ले कि तेरी दोस्ती ही मेरी शान है.

सूरज वो जो दिन भर आसमान का साथ दें,
चांद वो तो रात भर तारों का साथ दें,
प्यार वो जो जिंदगी भर साथ दे,
और दोस्ती वो जो हर खुशी और गम में साथ दें.

होठों पर मुस्कान आंखों में शरारत है,
अब तुझे और क्या कहूं,
ये तो तेरी आदत है.

वो जिंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नहीं,
वो मोहब्बत ही क्या जिसमे यादें नहीं,
वो यादें ही क्या जिसमे तुम नहीं,
और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नहीं.

खुदा सलामत रखे उनको जो हमसे नफरत करते हैं,
प्यार ना सही, नफरत से ही,
कुछ तो है जो सिर्फ वो हमसे करते हैं.

दोस्त एक साहिल है तूफानों के लिए,
दोस्त एक आईना है अरमानों के लिए,
दोस्त एक महफिल है अनजानो के लिए,
दोस्ती एक ख्वाइश है आप जैसे दोस्त को पाने के लिए.

काश एक शख्स मेरी तकदीर हो जाए,
मैं उसका आईना वो मेरी तस्वीर हो जाए,
जमीन आसमान से कट जाए मेरा नाता,
उसकी याद का हर लम्हा मेरी जागीर हो जाए.

आंखों से दूर हो,
पर दिल के करीब हो,
अगर अपना बुलाया वापस मुझको अपने पास,
तो समझूंगा बड़े ही गरीब हो.

आपके सालों से फुर्सत नहीं मिलती,
हमें एक पल की राहत नहीं मिलती,
मिल तो जाती है सांस कुछ,
बस आपकी एक झलक नहीं मिलती.

भीगी पलकों के संग मुस्कुराते थे हम,
पल पल दिल को बहलाता थे हम..
वो दूर थे हमसे तो क्या हुआ,
उन्हें याद रखने के लिए ही तो भूलाते थे हम.

पाने से होने का मजा और है,
बंद आंखों से देखने का मजा और है,
आंसू बने लफ्ज और लफ्ज बने गजल,
तेरी यादों के साथ जीने का मजा कुछ और है.

और सभी चीजें बहुत सी लुट चुकी है दिल के साथ,
यह बताया दोस्तों ने इश्क फरमाने के बाद,
अब कमरे की एक एक चीज चेक करता हूं मैं,
एक तेरे आने से पहले, एक तेरे जाने के बाद.

देते हो क्यों ये दर्द बस हम ही को?
क्या समझोगे तुम इन आंखों की नमी को…
यूं तो होंगे लाखों दीवाने इस चांद के,
चांद क्या महसूस करेगा एक तारे की कमी को.

आंखों की जुबान समझ नहीं पाते,
होंठ मगर कुछ कह नहीं पाते,
अपनी बेबसी किस तरह कहे,
कोई है जिसके बिन हम रह नहीं पाते.

हम मिट्टी के आशियाना बनाते गए,
बना बना कर उन्हें मिटाते गए,
हमें कोई ना अपना बना सका,
हम हर किसी को अपना बनाते गए.

पूछ लो तुम भी इस जमाने से,
प्यार छुपता नहीं छुपाने से,
पास आते हो छूते हो बात करते हो,
कभी मतलब से, कभी बहाने से.

जवानी तो जिंदगी का निखार कहते हैं,
पतझड़ को चमन का मझधार कहते हैं,
अजीब चलन है दुनिया का यारों,
एक धोखा है जिसे सब प्यार कहते हैं.

प्यार की राह का होता है कठिन सफर,
दिल की दुआ में होती है बहुत असर,
यदि चलना है तो दिल से चल,
क्योंकि दिमाग कर देता है उसे बेअसर.

शमा जलती है परवाने चले आते हैं,
सर के बल इश्क के दीवाने चले आते हैं,
अब तो आ जाओ मेरी जान की जनाजा उठाने को है,
लोग तो गैरों को भी दफनाने चले आते हैं.

सूरत से ऐसा लगता ना था,
की खफा पल भर में हो जाओगे,
पल भर के लिए अपना ना समझा,
जिंदगी भर प्यार क्या निभाओगे.

आपने रूठा ना करो यूं हमसे,
मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है,
दिल तो आपके नाम कर चुके हैं,
जान बस बाकी है, वो भी निकल जानी है.

यार ने दिल का हाल बताना छोड़ दिया,
हमने भी गहराई में जाना छोड़ दिया,
जब उसे ही दूरी का एहसास नहीं,
तो हमने भी एहसास दिलाना छोड़.

आपके शहर में काली घटा तो छाती होगी,
फूलों को थोड़ी सी शर्म तो आती होगी,
आपके घर के पास दुनिया से मगर,
अकेले में हमारी याद तो आती होगी.

आंखों के सामने हरदम आपको पाया है,
दिल में भी आपको ही बसाया है,
आपके बिना हम जिएंगे कैसे,
भला जान बिना भी कोई छुपाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here